IAS बनना चाहते हैं? इस स्ट्रीम को चुनेंगे तो मिलेगा फायदा, स्टूडेंस्ट्स की है पहली पसंद  


UPSC ​IAS:विभिन्न संकायों में पढ़ने वाले छात्रों को UPSC सिविल सर्विसेस एग्जाम (UPSC Civil Providers Examination) के लिए विषयों को चुनने में दिक्कत होती है लेकिन कला विषय के छात्र इसका लाभ ले लेते हैं. UPSC सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए वैकल्पिक विषयों में कला विषयों की ही अधिकता होती है.  
 
अधिकांश बच्चों का सपना होता है ​​आईएएस (IAS) बनना लेकिन आईएएस बनने के लिए विषयों का चुनाव करने में कॉमर्स, विज्ञान के छात्र असमंजस में रहते हैं लेकिन आर्ट्स विषय लेने वाला छात्र इसका लाभ ले लेता है. जिन छात्रों ने कक्षा 12वीं तक तो साइंस या कॉमर्स की पढ़ाई कि लेकिन अब वे ग्रेजुएशन (Commencement) के लिए आर्ट्स स्ट्रीम में शिफ्ट होना चाहते हैं.

यूं तो किसी भी परीक्षा में कैंडिडेट का दृष्टिकोण उसकी मेहनत ही उसकी सफलता की सीढ़ी होती है लेकिन विषयों का सही चुनाव उस सफलता की संभावनाएं बढ़ा देता है. सिविल सर्विसेज के विभिन्न चरणों के एग्जाम में आर्ट्स के विषय (Arts Topic) की सबसे ज्यादा पढ़ाई करनी पड़ती है और इसका फायदा आर्ट्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स को मिलता है. इन विषयों में इतिहास, लोक प्रशासन, राजनीति विज्ञान, भूगोल, मनोविज्ञान, समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र जैसे खास विषय हैं, इन विषयों को सिविल सर्विसेज के प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा (Prelims & Mains Examination) दोनों ही स्टेज में सबसे ज्यादा महत्व है.

इतना ही नहीं, इनमें से अधिकांश विषय UPSC की वैकल्पिक विषय सूची में भी शामिल हैं. इनमें से छात्र अधिकांश विषयों को चुनते भी है. यह काफी विस्तृत भी है क्योंकि विभिन्न स्कूल और बोर्ड इन विषयों के अलग-अलग कॉम्बिनेशन भी उपलब्ध कराते हैं. आम तौर पर, छात्रों को 11वीं और 12वीं कक्षा में पांच अनिवार्य और एक अतिरिक्त (वैकल्पिक) विषय चुनने की जरूरत होती है.

​SEBI Jobs: 120 पदों पर सेबी द्वारा की जा रही भर्ती, 24 जनवरी तक करें आवेदन

UPSC की 68वीं वार्षिक रिपोर्ट
UPSC की 68वीं वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार सीएसई 2016 में कैंडिडेट्स द्वारा वैकल्पिक विषयों के रूप में सबसे ज्यादा चुने गए विषयों की बात करें, तो उम्मीदवारों द्वारा चुने गए वैकल्पिक विषयों में से 84.7% आर्ट्स (भाषा साहित्य सहित) से संबंधित थे. इसके बाद क्रमशः विज्ञान, चिकित्सा विज्ञान और इंजीनियरिंग से संबंधित 6.8%, 5.4% और 3.1% उम्मीदवार थे. उम्मीदवारों द्वारा चुने गए वैकल्पिक विषयों में भूगोल (Geography) सबसे पसंदीदा विषय था, इसके बाद समाजशास्त्र (Sociology) और लोक प्रशासन (Public Administration) रहा.

आर्ट्स स्ट्रीम वालों को मिलता है एडवांटेज
सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों और UPSC पाठ्यक्रम के विषयों को देखते हुए, आर्ट्स स्ट्रीम वाले छात्रों के लिए निश्चित तौर पर इसे एक एडवांटेज के तौर पर देख सकते हैं. क्योंकि छात्र ये विषय पहले ही स्कूल और कॉलेज में पढ़ चुके होते हैं. इसलिए यदि आप सिविल सर्विसेज के रूप में अपने करियर का चुनाव करते हुए इस दिशा में आगे बढ़ना चाहते हैं तो ऐसे में आर्ट्स स्ट्रीम के साथ आपको अतिरिक्त फायदा मिलता है.    

​UKPSC Recruitment: उत्तराखंड में 13 सिविल जज के पदों पर निकली भर्ती, 20 जनवरी तक करें आवेदन

Schooling Mortgage Info:
Calculate Schooling Mortgage EMI

.

Leave a Reply

%d bloggers like this: